रविवार, 30 मई 2010

बिटिया नादान है.

बिटिया नादान है.



बहु मेरे लिए नेहा और तुम एक जैसे हो. तुम दोनों की उम्र भी बराबर है. मैं तुम दोनों में कोई फर्क नहीं करती इसलिए तुम्हे डाट रही हूँ. अब सुनो..... देखो तुम्हारे परिवार में क्या होता है मुझे पता नहीं पर हमारे परिवार में बहु बेटिया नगें सर घुमती अच्छी नहीं मानी जाती. अब तुम कोई बच्ची तो हो नहीं की ये बात तुम्हे बार बार बतलाई जाएगी इसलिए आगे से ध्यान रखना. मैं अपने घर में संस्कारी माहोल चाहती हूँ. ठीक है... अब जाओ.

अरे नेहा तुम कहाँ चली चुपके चुपके...... और बेटा ये तुम्हारी चुन्नी कहाँ है ..... देखो स्लीवलेस टॉप चुन्नी के बिना थोडा अच्छा नहीं लगता.... अरे तुम मेरी बात सुन रही हो की नहीं.... अरे! सुनो........नेहा !.....ये लड़की भी ना .... चली गयी....


इसका बचपना अभी गया नहीं..... मेरी बेटी .... अभी भी नादान है.





प्रायवेट स्कूल महंगे है.


यार दीपू तू तो एजुकेशन में रहा है ना... यार जरा बता अपने अस पार कोन सा सरकारी स्कुल बढ़िया है..... अरे यार वो छोटी बेटी है ना उसका दाखिला करवाना है. अब तुझे तो पता ही है ये प्रायवेट स्कुल सब एक जैसे है.... सालों ने स्कुल के नाम पर दुकाने खोल रखी हैं हमें लूटने के लिए.. क्या करूँ यार बड़े लड़के को bharti करा दिया था अब भुगत रहे है. अब उसे सरकारी स्कुल में भी नहीं डाल सकते. अब तो बस बिटिया को ही सरकारी स्कुल में पढ़ाएंगे . कुछ खर्चा तो बचेगा. ...... यार तू देखना कोई अच्छा सा सरकारी स्कुल.

 
 
सरकारी स्कुल तो बकवास हैं.

अरे पाण्डेय जी कहाँ रहते हो आप..... आप तो शिक्षा अधिकारी के पास थे ना. यार आपके भतीजे का किसी अच्छे प्रायवेट स्कुल में दाखिला करवाना है. आपको पता है सरकारी स्कुल तो बकवास होते है. पढ़ाई तो होती नहीं है इन स्कूलों में बस नाम के ही होते हैं. बड़ी बिटिया का दाखिला करवाया था सरकारी स्कुल में अब भुगत रहे है. अब कुछ किया भी नहीं जा सकता बस बेटे का दाखिले किसी बढ़िया से प्रायवेट स्कुल में करवाएंगे. पैसे की कोई चिंता नहीं है जितना लगेगा देंगे.... बस आप देखना कोई बढ़िया सा स्कुल.

4 टिप्‍पणियां:

  1. Tippani to' Narak se swarg ...',is chitrmay aalekh pe dena chah rahi thi,lekin comment box kahin nazar nahi aayaa!
    Warnan ke alawa,chitr dekh ne bada lutf mila!
    "Simte Lamhen" par samay ho to 'Daadi maa ka Naihar' yah aalekh zaroor padhen!

    उत्तर देंहटाएं
  2. भाई जी, आपकी पोस्ट्स पर टिप्पणी की ऑप्शन दिखती ही नहीं है - काफी टाइम खर्ची होता है और टिप्पणी भी रखे-रखे वाष्पित हो जाती है. आगे आदेश यह है कि इस समस्या का हल तुरंत ढूंढा जाए.

    शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  3. pandey ji,
    you can also see screen-shot for possible solution of your comment problem on my blog (added in latest post). That given screen (on my blog) appears after "dashboard" --> "setting"

    have a nice day

    उत्तर देंहटाएं
  4. solution number two: ( this will surely work in your case where "only new post gets affected" by comment problem)

    check the second screen shot on my blog... i am going to put in few minutes

    उत्तर देंहटाएं