मंगलवार, 20 अप्रैल 2010

माताओं, बहिनों से मेरा विनम्र निवेदन वो भूकंप ना लायें.

जी हाँ, मैं सभी माताओं व बहिनों से यह विनम्र निवेदन करना चाहता हूँ की वो भूकंप का केंद्र ना बने। मैं तो पूर्वी दिल्ली में रहता हूँ जहाँ भूकंप आने की ज्यादा संभावना है। अतः कमसे कम अपने इलाके की महिलाओ को तो यही सलाह दूंगा की वो पूर्वी दिल्ली को बक्श दें और कोई ऐसा कार्य ना करें की यहाँ भूकंप आ जाये।
आज सुबह के टाइम्स ऑफ़ इंडिया के पृष्ट संख्या १७ के उस स्थान पर जहाँ पर बिकनी पहने एक अत्यंत भद्र महिला का अति सुन्दर चित्र छपा है , के ठीक नीचे एक छोटी सी खबर छपी है जिसमे लिखा है:

A senior Iranian Cleric says many women who do not dress modestly lead young men astray, corrupt their chastity and spread adultery in society, which increases earthquakes।


मुझे तो लगता है की global warming के लिए भी इस तरह की स्त्रियाँ जिम्मेदार हैं। अरे वो जब कम कपडे पहनती हैं तो आस पास की फिजा गर्म हो जाती है।

इसलिए मैं सभी माताओं बहनों से दुबारा निवेदन करूँगा की वो ऐसा कोई कार्य ना करें की धरती पर कोई भूकंप ए।

धन्यवाद।

( मेरी अपील सिर्फ माताओं और बहिनों से थी। ये पॉइंट नोट किया जाय। )

6 टिप्‍पणियां:

  1. क्‍या ऐसा ह‍ी दर्शन पशु-पक्षियों के साथ भी है? वे तो कपड़े नहीं पहनते। हमारा पुरुष समाज इतना विकृत हो गया है कि उसे महिला के सिवाय कुछ दिखायी देता ही नहीं, इस कारण ऐसी बाते कही जाती हैं। आजकल तो पुरुष भी महिला बनने की दौड़ में शामिल हैं। सारे ही हीरो अपने सीने को सफाचट कराकर महिला जैसा दिखना चाहते हैं। अब आप बताइए महिला कपड़े कम पहने या ज्‍यादा, उसकी पूर्ति तो ये हीरो कर ही रहे हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. फोटो नहीं छापी जी आपने?

    शायद जो तय्यारी में हो ऐसा करने की उनको थोड़ी-बहुत शर्म आ जाती!खैर जिसको शर्म आनी होगी इतने से भी आ जायेगी!

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  3. एक समाचार और ....

    "चलती लू ने फिर पर्दा-प्रथा को बढावा दिया. "

    एक तरफ महिलाओं की तरफ से पुरजोर विरोध का स्वर आ रहा है कि हाय! इस परदे ने महिलाओं के व्यक्तित्व को उभरने ना दिया!! "पर्दा-प्रथा" हाय, हाय!

    दूसरी तरफ से कुछ महिलाओं का स्वर समर्थन भरा भी सुनाई देने लगा है कि इस बिकनी शो से अभी भी महिला व्यक्तित्व पूरी तरह बाहर नहीं आ पाया है. कुछ और आगे बढना चाहिए.

    पर वाह री प्यारी लू! तूने परदे का चलन फिर ला ही दिया, महत्व समझा ही दिया. धन्यवाद लू.

    उत्तर देंहटाएं
  4. @ "मुझे तो लगता है की global warming के लिए भी इस तरह की स्त्रियाँ जिम्मेदार हैं। अरे वो जब कम कपडे पहनती हैं तो आस पास की फिजा गर्म हो जाती है।"

    अजी महाराज क्यों महिला आजादी मंडलों के हमलों से शहीद होना चाह रहे है

    @ ajit gupta कहीं आप अपनी बात के अगेंस्ट मत समझिएगा यह तो सिर्फ मित्रों की मजाक है

    उत्तर देंहटाएं
  5. ये बढ़िया कारण ढूंढा जी ढूंढने वालों ने भूकंप आने का। पर ये अफ़गानिस्तान जैसी जगहों पर भूकंप क्यों आता है फ़िर?

    बढि़या चीज खोज कर लाये हो दीप।

    उत्तर देंहटाएं