रविवार, 1 अगस्त 2010

अगर आपके पार्टनर का पुराना साथी उसे वापस मांगे तो आप क्या करेंगें.. सोच लो.

How would you handle it if your partners ex want him or her back.. soch lo.

मेरे एक ब्लॉगर मित्र ने मुझे बताया कि उन्हें इस विषय पर लेखन के लिए एक e- mail आया  है. मुझे ऐसा कोई मेल   नहीं मिला  पर शीर्षक ही आमंत्रित कर रहा था तो मेरी सोच के घोड़े खुद ही खुद दौड़ने के लिए उछलने लगे. मैंने भी कहा जाओ बेटा थोड़ी मस्ती कर लो. इसी मस्ती में ये पोस्ट निकल आयी.

मैं जो कुछ भी अंग्रेजी में पढता हूँ उसे पहले हिंदी भाषा में परिवर्तित करता हूँ फिर उस  पर अपनी खालिस हिन्दुस्तानी विचारधारा के दायरे में रहकर  ही विचार  करता  हूँ. अब  मैंने इस शीर्षक का  हिंदी अनुवाद  करना  शुरू  किया पर partner शब्द  पर आकार  मेरी गाड़ी   अटक  गयी .  अंग्रेजी के इस partner शब्द  का इस शीर्षक के सन्दर्भ में  हिंदी अर्थ  क्या  होना  चाहिए ? पत्नी, प्रेमिका  या  इन  दोनों  से  जुदा कोई तीसरा व्यक्तित्व जिसे हम सिर्फ भागीदार कहें. फादर कामिल बुल्के का  हिंदी इंग्लिश शब्कोष पार्टनर शब्द का अर्थ बताता है साथी, संगी, साझेदार, जोड़ीदार, खेल का साथी.

तो यहाँ जिस पार्टनर कि बात हो रही है अगर उसे पत्नी या प्रेमिका ना मानकर उसे सिर्फ  साथी, संगी, साझेदार, जोड़ीदार, खेल का साथी में से कोई एक माने तो.  अरे तब तो ये आसान है. अब मेरे साथी का कोई पुराना जोड़ीदार उसे वापस मांगता है तो मैं तो सहर्ष ही तैयार हो जाऊंगा. यारों हम तो सारी दुनिया को एक ही कुटुंब मानने वाली भावना रखते हैं और सरकारी नौकरी में सीखा है कि जो कुछ  मिले उसे मिल बाट कर खाओ इसलिए अगर हमारे पार्टनर का कोई एक्स हमारे पास आए तो हम तो उस एक्स को कहेंगे कि पार्टनर ही क्यों हम खुद भी आपके साथ चलते हैं. दो से भले तीन और यूँ ही कारवां बढ़ता चला जायेगा और हमारी साझेदारी फलती फूलती रहेगी. वो क्या कहते हैं अंग्रेजी में मल्टी पार्टनर वाला मामला बन जायेगा.

आपका क्या ख्याल है?

पर जनाब अगर पार्टनर से आपका मतलब पत्नी या प्रेमिका है तब तो मुश्किल है. पत्नी और प्रेमिका को ये अंग्रेज पार्टनर कि श्रेणी में रख सकते हों पर हम तो पत्नी या प्रेमिका को partner नहीं sole proprietor या सही अर्थो में soul proprietor मानते हैं. अब किसी कम्पनी का मालिक ही कम्पनी को छोड़ दे तो भला वो कम्पनी अपना अस्तित्व बचा पायेगी. अपनी कंपनी तो बंद हो जाएगी. ये तो अस्तित्व कि लडाई है इसलिए इस मुद्दे पर हम तो कोई सोच विचार नहीं कर सकते, कोई समझोता नहीं कर सकते. जो गोरे अंग्रेज या काले अंग्रेज अपनी पत्नी या प्रेमिका को पार्टनर  मानते हों वो इस मुद्दे पर  विचार कर अपना जवाब दे.

अब फिर पूछूँगा आपका क्या ख्याल है?

14 टिप्‍पणियां:

  1. Oho! Ha,ha,ha!Mai bhi bahut khush ho jaungi apne partner ko wapas bhej...lagega zara x ko pata chalega ki ye bhi kya bala hai!!:):)

    उत्तर देंहटाएं
  2. (१)पहला ख्याल तो ये कि ये सवाल 'अपन' से नहीं है , यानि कि हिंदुस्तानियों के लिये नहीं है और मतलब यह कि सवाल बुनियादी तौर पर 'संगी-बदलू' समाज से वाबस्ता है!

    (२)दूसरा ख्याल ये कि सम्भावनायें दो हैं , कि सवाल 'X' से पूछा गया याकि 'Y' से ?

    अब अगर सवाल 'X' से है तो उसे 'X' लौटाने पर सहमत और 'Y' लौटाने पर असहमत होना चाहिए ! इसी तर्ज़ पर ...

    अगर सवाल 'Y' से है तो उसे 'Y' लौटाने पर सहमत और 'X' लौटने पर असहमत होना होगा !

    कम से कम प्रकृति तो यही चाहती है :) बाकी शौक़ीन तबियत मित्र अपने जबाब खुद बनायें :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. वैसे ही महिलाओं के लिए सवाल : पति की पुरानी प्रेमिका या पहली पत्नी किसी सुहानी सुबह आकर आपसे अपना एक्स वापस मांगती है? कितनी महिलाऐं वापस देने तैयार होंगी? और क्यों?

    आदर्श जवाब : क्या पति कोई वस्तु है जो मैं वापस करूँ, पति की मर्ज़ी वह उसके साथ या जिसके भी साथ जाना चाहे जाए.

    उत्तर देंहटाएं
  4. ab inconvenienti जी की बात से सहमत , partner कोई वास्तु थोड़े ही है जो वापस की जाए ,उसकी अपनी मर्जी है ,जिसके साथ भी रहना चाहे रहे ,हम तो सिर्फ समझा सकते हैं, अंतिम निर्णय तो उसे ही लेना है

    उत्तर देंहटाएं
  5. यहाँ ऊपर की टिपण्णी में " वस्तु " की जगह गलती से " वास्तु " लिखा गया है , कृपया इसे ignore करें

    उत्तर देंहटाएं
  6. वैसे दुसरे की मुसीबत कौन अपने सर लेना चाहेगा ?? इस कलयुग में इतनी भलाई कहाँ से आएगी ?? ;-)

    उत्तर देंहटाएं
  7. मियाँ बीवी राजी तो क्या करेगा काजी?

    उत्तर देंहटाएं
  8. एक चुप-हजार चुप. नो कमेंट. जब जैसा मौका आ जायेगा, देखी जायेगी. :)

    उत्तर देंहटाएं
  9. भैय्या अब कोई भी कुछ भी मांगेगा तो हम थोड़े ही दे देंगे? अब जो हमारा हो जाता है वोह हमारा ही रहता है...... अपनी मर्ज़ी से भी किसी को नहीं देते.....

    उत्तर देंहटाएं
  10. एक बेहद उम्दा पोस्ट के लिए आपको बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं!
    आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है यहां भी आएं !

    उत्तर देंहटाएं
  11. पहली बात अगर ये सवाल "मौज" (just joking) के लिये है तो kshama का उत्तर बहुत बढिया है।
    ab convenienti
    की बात से सहमत
    दूसरी बात यह प्रश्न ही गलत है। कोई किसी को कैसे मांग सकता है और कोई किसी को कैसे दे सकता है? क्या किसी की किसी पर प्रभुता हो जाती है।
    प्रश्न ये हो सकता है कि कोई खुद अपने X के साथ जाना चाहे तो?
    तो अपना तो जवाब यही है कि जाने वाले को कौन रोक सकता है

    प्रणाम स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  12. पुरुष की दृष्टि से 'पार्टनर'...... को मैं तो नर का 'पार्ट' मानता हूँ. वह अलग हुआ तो नर अकेला रह जाएगा. पार्टनर – पार्ट = नर.
    ऐसे में वह या तो संबंधों से उदासीन हो असामाजिक साधू बन जाएगा या फिर अपने बिछड़े पार्ट की भरपायी करने को नारियों के प्रति 'पोर्ट' दृष्टिकोण अपना लेगा.
    स्त्री की दृष्टि से 'पार्टनर' ...... पार्ट है, हिस्सा है नर का. वह अपने को अलग करेगा तो वह हिस्सा किसका कहलायेगा?
    ऐसे में वह या तो मंदिर की दीवार में ईंट समझकर चिन दिया जाएगा. या फिर वह कोठे की नींव भराव में काम आयेगा.

    उत्तर देंहटाएं
  13. भइया आपकी बात से सहमत हूँ, पत्‍नी तो आत्‍मा होती है । मगर जिसकी शादी न हुई हो अगर उसकी प्रेमिका को कोई माँग बैठे तो वह कितना दुखद मंजर होगा ।

    ईश्‍वर करे ऐसा किसी के साथ न हो ।

    उत्तर देंहटाएं
  14. 'हम तो पत्नी या प्रेमिका को partner नहीं sole proprietor या सही अर्थो में soul proprietor मानते हैं.'

    - शुद्ध भारतीय सोच.

    उत्तर देंहटाएं